Samsung का मालिक कौन है? | Samsung कहाँ की कंपनी है?

Samsung का मालिक कौन है?: क्या आप जानना चाहते हैं की Samsung का मालिक कौन है? सैमसंग किस देश की कंपनी है? आज बच्चों से लेकर बड़े लोगों तक सैमसंग नाम से परिचित हैं, क्योंकि लगभग सभी घरों में सैमसंग के कुछ इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस उपलब्ध होते हैं, Samsung मोबाइल, टीवी, रेफ्रिजरेटर, स्मार्टवॉच, AC, वॉशिंग मशीन, माइक्रोवेव ओवन, ऑडियो डिवाइस, स्टोरेज डिवाइस आदि जैसे कई प्रकार के Electronic Device बनाती है. इस ब्लॉग पोस्ट में हम आपको विस्तार से बताएँगे कि सैमसंग कंपनी का मालिक कौन है और सैमसंग कहाँ की कंपनी है और भी इसके बारे में कुछ और रोचक जानकारियां।

भारत के ज्यादातर घरों में अब सैमसंग के कुछ Electronic Devices का इस्तेमाल होता है, चाहे वह मोबाइल हो या टीवी या कोई अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस. आज भी सैमसंग कीपैड फोन ग्राहक पहली पसंद हैं और लंबे समय तक चलते हैं। यदि देखा जाय तो जो लोग Simple Keypad Phone इस्तेमाल करना चाहते हैं वे Samsung का फ़ोन लेना पसंद करते हैं. इसका एकमात्र वजह यह है की एक तो यह टिकाऊ है और दूसरा यह सस्ता भी है.

जैसे-जैसे तकनीक आगे बढ़ती है, इसलिए इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की लागत और आम जनता तक पहुंचना, मशीनों के उपयोग से जीवन आसान हो जाता है और एक ऐसा काम करने में 1-2 दिन लगते हैं जो लोग कर सकते हैं। यही काम मशीन से कुछ ही घंटों में हो सकता है। तो यह बात तो साफ़ हो गया की Electronic Devices बनाने में Samsung Company का बड़ा हाथ है, लेकिन अभी भी कई लोगों को यह नहीं पता की आखिरकार Samsung का मालिक कौन है? तो आइये सबसे पहले यह जानते हैं की Samsung ka Malik kaun hai?

SAMSUNG का मालिक कौन है

सैमसंग कंपनी का मालिक कौन है? | Samsung ka Malik Kaun hai?

सैमसंग कंपनी के मालिक ली बायंग-चुल (Lee Byang-chul) हैं. इन्होने सैमसंग कंपनी की स्थापना 1 मार्च, 1938 को की, हालांकि अपने शुरुआती दिनों में यह एक इलेक्ट्रॉनिक निर्माता कंपनी नहीं थी, जो एक ट्रेडिंग कंपनी थी, जो केवल 2500 रुपये की लागत से शुरू हुई थी। इसके बाद सैमसंग ने किराने की दुकान शुरू की, जहां इन फलों और सब्जियों को आसपास के शहरों से निर्यात किया जाता था।

सैमसंग कंपनी के संस्थापक या संस्थापक ली बाइनिंग चुल का जन्म 12 फरवरी 1910 को हुआ था, उन्होंने 1938 में सैमसंग कंपनी की स्थापना की थी, सैमसंग कंपनी ने उस समय फूड प्रोसेसिंग, टेक्सटाइल, इंश्योरेंस, सेफ्टी और रिटेल जैसी कई चीजें कीं। 1960 में सैमसंग ने इलेक्ट्रॉनिक इंडस्ट्री में एंट्री की।

आज ली बाइिंग चुल इस दुनिया में नहीं बल्कि दक्षिण कोरिया के लोगों के लिए ली बाइिंग चुल प्रेरणा स्रोत हैं, वह अपने समय के सबसे सफल बिजनेसमैन थे और वहां के लोगों ने इलेक्ट्रॉनिक बिजनेस के बारे में बहुत कुछ सीखा है।

आज सैमसंग अपने परिवार के सदस्य लॉ जाय-योंग (Lee Jae-yong) कंपनी चला रहे हैं, जो सैमसंग के चेयरमैन भी हैं ।

सैमसंग किस देश की कंपनी है? | Samsung kis desh ki Company hai?

सैमसंग एक दक्षिण कोरियाई बहुराष्ट्रीय कंपनी है जिसका मुख्यालय दक्षिण कोरिया में है, जो दुनिया की सबसे बड़ी इलेक्ट्रॉनिक्स निर्माता कंपनी है और Samsung दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी प्रौद्योगिकी कंपनी भी है। आज सैमसंग दुनिया के ज्यादातर देशों में अपनी सेवाएं देती है और मोबाइल फोन इंडस्ट्री में सैमसंग का भारत में सबसे बड़ा मार्केट शेयर है।

सैमसंग दक्षिण कोरिया के कुल GDP का 17% योगदान देता है तो आप सोच सकते हैं कि सैमसंग कंपनी कितनी बड़ी है और दक्षिण कोरिया के लिए यह कितना महत्वपूर्ण है। हालांकि, दक्षिण कोरिया का 2018 में 5.16 करोड़ की आबादी थी तो यह कम आबादी वाला एक छोटा सा देश है।

सैमसंग अपने इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस मैन्युफैक्चरिंग और ट्री कलेक्शन समेत करीब 74 देशों में सेवाएं देती है, जिसमें दुनिया भर के करीब 300,000 लोगों को रोजगार मिलता है, अगर सभी प्रकार की कंपनियों को शामिल किया जाए तो सैमसंग दुनिया की 18वीं सबसे बड़ी कंपनी है।

सैमसंग का सीईओ कौन है?

सैमसंग के पास फिलहाल तीन सीईओ कोह डोंग-जिन (Koh Dong Jin), किम की नाम (Kim ki Nam) और किम ह्यून सुक (Kim Hyun Suk) हैं, जिन तीनों को 2018 में सैमसंग का CEO नियुक्त किया गया था। एक सीईओ का कंपनी के Management में बड़ी भूमिका होती है कंपनी के सभी बड़े फैसले सीईओ की मंजूरी के बाद होते हैं।

सैमसंग बहुत बड़ी कंपनी है, इसलिए दुनिया भर के कई निवेशकों ने इसमें पैसा निवेश किया है, कंपनी के मुख्य सिस्टम में किसी भी निवेशक की विशेष भूमिका नहीं है क्योंकि सभी फैसले कंपनी के चेयरमैन, सीईओ और बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स द्वारा लिए जाते हैं, एक निवेशक मुख्य रूप से कंपनी को फंड मुहैया कराता है।

सैमसंग कंपनी का इतिहास | History of Samsung Company

सैमसंग कंपनी की शुरुआत ली बिंग-चुल ने की थी. इस कंपनी की शुरुआत सिर्फ $25 की लागत से हुई थी, बाद में उन्होंने नौकरी छोड़ दी और फल, सब्जियों और मछली का निर्यात शुरू कर दिया।

सैमसंग ने 1950 से 1960 तक लाइफ इंश्योरेंस टेक्सटाइल सेक्टर में भी काम किया लेकिन उसे ज्यादा सफलता नहीं मिली, जिसके बाद इलेक्ट्रॉनिक्स में बढ़ते चलन को देखते हुए कंपनी ने इलेक्ट्रॉनिक इंडस्ट्री में प्रवेश किया, यह कंपनी का सबसे अच्छा फैसला माना गया और बाद में यह टर्निंग प्वाइंट भी साबित हुआ।

इस तरह सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स की शुरुआत हुई, उस समय टीवी नया था और ज्यादा लोग टीवी का इस्तेमाल करना चाहते थे, इसलिए कंपनी ने सबसे पहले टीवी बनाने पर काम किया और 1970 में इसने अपना पहला ब्लैक एंड व्हाइट टीवी लॉन्च किया। सैमसंग के टीवी को लोगों ने खूब पसंद किया, जिसके बाद कंपनी ने फ्रिज, एसी, माइक्रोवेव आदि कुछ अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस लॉन्च किए।

एक दशक बाद 1980 में मोबाइल फोन लोगों के लिए नया था और इसका चलन बढ़ रहा था, यहां भी कंपनी में मोबाइल फोन के इस्तेमाल और जरूरतों को देखते हुए मोबाइल फोन और मोबाइल फोन जैसे उत्पादों का इस्तेमाल मेमोरी कार्ड बनाने पर जोर देने के साथ सैमसंग ने कंप्यूटर कंपोनेंट्स भी पेश किए।

सैमसंग के अच्छे उत्पादों और सेवाओं की वजह से इसे लोगों ने खूब पसंद किया और देखते ही देखते यह सैमसंग इतना बड़ा ब्रांड बन गया।

चीन भारत और अमेरिका इलेक्ट्रॉनिक कंपनियों के लिए दूसरा सबसे बड़ा बाजार है, इसलिए सैमसंग ने भी 1995 में भारत में पैर रखा और श्रीपुरमबुदुर में अपना संयंत्र स्थापित किया, सैमसंग कंपनी की भारत में 15 लाख से अधिक खुदरा बिक्री हुई है।

सैमसंग के Noida सेक्टर में 81 एकड़ में दुनिया का सबसे बड़ा मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग प्लांट है, इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति ने किया।

सैमसंग का मालिक कौन है? [Video]

सैमसंग के मालिक से जुड़े अन्य सवाल

ये भी पढ़ें:

अन्तिम शब्द,
तो दोस्तों, आज के पोस्ट में हमने बताया की Samsung ka malik kaun hai? यदि आपके पास इस पोस्ट से सम्बंधित कोई प्रश्न है, तो आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में टिप्पणी करके हमसे पूछ सकते हैं, और यदि आपको लगता है कि यह पोस्ट आप सभी के लिए फायदेमंद है, तो आप इस पोस्ट को शेयर कर सकते हैं।

Share on:

Leave a Comment